✽   प्रात:काल आरती
✽  संध्या आरती

विश्व में सन्तों के जितने भी आश्रम, मठ मंदिर तथा संस्थाएं हैं, उनके संचालक, संत—महन्त, महामण्डलेश्वर तथा ट्रस्ट—गण, सभी परमार्थ कार्यों में संलग्न हैं। परमार्थ कार्यों की इसी श्रृंखला में महर्षि गंगादास जी द्वारा स्थापित 'विश्व शक्ति मिशन ट्रस्ट' का नाम भी शुमार है। जिसमें गौशाला, विधवा आश्रम, मुफ्त औषधालय ​तथा अन्न क्षेत्र चलाऐ जा रहे हैं। इनके साथ—साथ यहां महापुरूषों के जीवन—चरित्र एवं उनकी वाणी का लेखन कार्य भी होता है। जिसका प्रमाण आपके कर कमलों में मौजूद यह जीवन—चरित्र है। विश्व कल्याण के लिए यहां सुबह आरती और वाणी का पाठ नियमित रूप से किया जाता है। साथ ही ट्रस्ट के माध्यम से महापुरूषों की वाणी, लीला तथा उनकी विचारधारा को सम्पूर्ण विश्व में फैलाने के लिए जल्द ही उनके जीवन पर टी.वी. सीरियल (धारावाहिक) तथा फिल्म (चल—चित्र) बनाने की योजना तैयार की जा चुकी है। जिससे जन—सम्प्रदाय महापुरूषों की इस कल्याणकारी लीलाओं को पढ़नें सुनने के बाद अपनी आंखों से भी अवलोकन कर सकेगा।